चले आज तुम ज़हां से ह्ई ज़िन्दगी पराई…!

चले आज तुम ज़हां से ह्ई ज़िन्दगी पराई…!
तुम्हे मिल गया ठिकाना हमे मौत भी ना आई…!!
ओ दूर के मुसफिर हमको भी साथ लेले रे…
हमको भी साथ लेले हम रह गये एकले…..!!!

Views